• Home
  • >
  • Articles
  • >
  • कंप्यूटर में बनाएं बेहतर करियर
कंप्यूटर में बनाएं बेहतर करियर
4958
Monday, 05 September 2016 05:28 PM Posted By - Nitin Kumar Sharma

Share this on your social media network


  • कंप्यूटर में बनाएं बेहतर करियर
    कंप्यूटर के क्षेत्र में रोजगार के अवसरों और पैसे की कमी नहीं है लेकिन क्या जानते हैं कि 12वीं के बाद भी इस क्षेत्र में दक्षता हासिल कर आप शानदार करियर का रास्ता तैयार कर सकते है। प्रायः यह कहा जाता है कि इस क्षेत्र में सिर्फ आईआईटी या ऊंचे इंजीनियरिंग कॉलेजों में पढ़कर ही नौकरी मिल सकती है, लेकिन सच यह है कि 12वीं पास करने के तुरंत बाद कंप्यूटर की दुनिया आपके लिए एक बेहतर क्षेत्र हो सकता है। यहां आपके लिए विकल्पों की भरमार है जिसमें हार्डवेयर और नेटवर्किंग शामिल हैं।
    कंप्यूटर में नेटवर्किंग और हार्डवेयर से जुड़े कोर्स करने के लिए आप 12वीं के बाद कंप्यूटर साइंस में इंजीनियरिंग कर सकते हैं। इसके अलावा पॉलीटेक्नीक में कंप्यूटर साइंस या इलेक्ट्रॉनिक में तीन वर्षीय डिप्लोमा कर सकते हैं लेकिन इसमें कुछ सामान्य कोर्स भी हैं। इसमें लोगों को एक सिस्टम से दसरे सिस्टम को जोड़ने जैसे लेन, वेन आदि के बारे में जानकारी दी जाती है। सॉफ्टवेयर अपडेषन, सिस्टम मेंटीनेंस, डॉक्यूमेंटेषन हार्डवेयर मेंटीनेंस के बारे में बताया जाता है। नेटवर्किंग का उपयोग आज अमूमन हर क्षे़त्र बैंकिंग से लेकर रीटेल, टेलीकॉम, फाइनेंषिंयल सर्विस, मीडिया और बीपीओ तक में हो रहा है। नेटवर्किंग के लिए सीसीएनए, सीसीएनपी आदि परीक्षादेकर नौकरी भी मिल जाती है।
    सर्टिफिकेट कोर्स के अलावा आप सिक्योरिटी, आईपी टेलीफोन, वायलैस की जानकारी प्राप्त कर नेटवर्किंग के क्षेत्र में सफलता हासिल कर सकते है। यहां आप चिप डिजाइनर, टेक्नीकल सपोर्ट एग्जीक्यूटिव, सिस्टम एडमिनिस्ट्रेटर के तौर पर भी काम कर सकते है। ऑपरेषन फील्ड में ईडीपी मैनेजर, आईटी इनेबल सर्विस में भी खासी संभावनाएं हैं। इस फील्ड में सामान्यतः नेटवर्क एडमिनिस्ट्रेटर, नेटवर्किंग इंजीनियर, नेटवर्क मैनेजर, इंफ्रास्ट्रक्चर मैनेजर, नेटवर्क सिस्टम एनालिस्ट के पद होते हैं।
    सिस्टम एडमिनिस्ट्रेटर के रूप में आप डिजाइनिंग, ट्रबलषूटिंग, कंप्यूटर के नेटवर्क को सुरक्षित रखने, एप्लीकेषन सर्वर और वेब सर्वर की जानकारी प्राप्त करते हैं। डाटाबेस इंजीनियर के तौर पर आपका काम रिसीवर से जुड़ा होता है। कुछ वायरलैस कैमरों के साथ एक छोटी सी एलसीडी डिवाइस भी मिलती है। इस पर आप पूरा नजारा देख सकते हैं। ये कैमरे एक रेंज में काम करते हैं। तथा रेंज से बाहर काम करना बंद कर देते है
    पाम रीडर:
    यह अत्याधुनिक तकनीक से लैस एक डिवाइस है। पाम रीडर आपके हाथों के डिजिटल मैप पर काम करता है और अलार्म के द्वारा किसी गैर आदमी के होने की जानकारी भी देता है।
    बायोमीटर रीडरः
    पाम रीडर की तर्ज पर ही बायोमीटर रीडर भी काम करता है मगर इसमें अंगूठे के फिंगरप्रिंट की जरूरत होती है।
    इलेक्ट्रोमैग्नेटिक लॉक :
    आपके घर पर न होने से आपके पीछे कोई भी मौजूद घर में घूस सकता है। यह लॉक सिर्फ उसी चाबी से खुल सकता है जिसके लिए यह बनाया गया है। इसके अंदर मौजूद रीडर जब तक इसकी चाबी को पहचान नहीं लेता, तब तक दरवाजा नहीं खुल सकता है। यह आसारी से इंस्टॉल किया जा सकता है।
    न्यूमैरिक लॉक :
    यह नया कांसेप्ट अभी शुरू हुआ है। इसे ज्यादातर लोग अपने घर के दरवाजे या अलमारी में लगवाना पसंद करते हैं। हर न्यूमैरिक लॉक का नम्बर दूसरे से अलग होता है। ऐसा सिक्योरिटी की वजह से किया जाता है। इसकी विषेषता है कि यदि किसी को इसके नंबर की जानकारी हो भी गई है तो एि बार गेट खुलने के बाद अंदर लगा गुप्त कैमरा आपकी सारी गतिविधियां दर्ज कर लेता है।
    वैष्वीकरण में कंप्यूटर का योगदान
    आज ग्लोबलाइजेषन के युग में विष्व में एक छोटी सी जगह पर घटी घटना पूरे विष्व को प्रभावित कर सकती है।वैष्वीकरण के युग में हम कई चीजों के लिए दूसरों पर निर्भर रहते है। चाहे आयात-निर्यात हो या फिर अन्य कोई इस सूचना प्रौद्योगिकी व तकनीक के युग में कंप्यूटर ने नई क्रांति का सृजन किया है तथा सामाजिक, आर्थिक, शैक्षिक, राजनीतिक, व्यावसायिक आदि सभी क्षेत्रों को प्रभावित किया है। कंप्यूटर व नेट हमारी जिंदगी का अहम हिस्सा बन गए हैं। बैंक कंप्यूटराइड हो गए हैं। तो लाइब्रेरियों में भी कंप्यूटर आ गया है, चाहे खेल का मैदान हो, षिक्षा या हमारी आर्थिक गतिविधियां सभी जगह कंप्यूटर महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है।
    शिक्षा के वैष्वीकरण में कंप्यूटर की भूमिका :
    शिक्षा के क्षेत्र में आज महत्वपूर्ण परिवर्तन हो रहा है। बच्चे पढ़ने विदेषी यूनिवर्सिटियों में जा रहे हैं और वहां रिसर्च कर रहे हैं। विदेषी छात्र हमारे देष में पढ़ने आ रहे है। यह सब संचार क्रांति में कंप्यूटर की महत्वपूर्ण भूमिका के कारंण संभव हुआ है। सभी विषयों के एनसाइक्लोपीडिया, सभी देषें के एटलस, मानचित्र,संस्कृति,इतिहास,साहित्य जो भी आप जानना चाहते हैं, तमाम सूचनांए इंटरनेट पर उपलबध हैं। अपनी नियमित शैक्षिक गतिविधियों को पूरा करने के लिए विकसित देषों में तो अनेक शैक्षिक संस्थान नेट का इस्तेमाल करने लगे है। आज के इस हाईटैक जमाने में आप घर बैठे कहीं पर भी चल रही क्लास को अटैड कर सकते हैं। परीक्षा दे सकते हैं। डिग्री हासिल कर सकते हैं। लैपटॉप के जरिए आप किसी विषेष स्थान पर शारीरिक रूप् से अपस्थित न रहते हुए भी चर्चा में भाग ले सकते हैं।
    आर्थिक जीवन में कंप्यूटर की भूमिका :
    वैष्वीकरण के दौर में पूरा विष्व एक बाजार में तब्दील हो गया है। आज घर बैठे आप कंप्यूटर के माध्यम से उघोग स्थापित कर सकते हैं। विभिन्न कंपनियों के इन्ट्रानेट आपस में जोड़े जा सकते हैं।इन नेअवर्कों को एक्स्ट्रानेट कहते हैं। इसके जरिए एक से दूसरी कंपनी के मध्य तमाम जानकारियों का आदान - प्रदान होता है।
    राजनीतिक वैष्वीकरण में कंप्यूटर का योगदान :
    आज किसी भी देश में हो रही राजनीतिक उथल-पुथल दूसरे देषों को भी प्रभावित करती हैं। हमारी सरकार किस तरह के समझौते करेगी यह सब दूसरे देशों के लिए भी महत्वपूर्ण होता है। चीन की तिब्बत नीति का असर भारत पर देखा जा सकता है। नेपाल में माओवादियों का उत्थान भी भारतीय-नेपाली परिवारों द्वारा अनुभव किया जा सकता है। अतः संचार माध्यम न केवल महत्वपूर्ण जानकारियां उपलब्ध करते हैं कंप्यूटर के माध्यम से हम महत्वपूर्ण दस्तावेजों का भी आदान-प्रदान करते हैं।
    किसी भी देश के चुनाव नतीजों का भारत के व्यापार, आर्थिक, राजनितिक संबंधों पर क्या असर होगा यह सबकुछ कंप्युटर विष्लेषण बताता है। आजकल तो सारे रिजल्ट भी कंप्यूटर द्वारा ही निकाले जाते हैं। इस प्रकार राजनीतिक के वैष्वीकरण में कंप्यूटर महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। आज राष्ट्रीय इंफॉरमेटिक सेंटर (एनआईसी) द्वारा देष में 29 वीडियो कांफ्रेंसिगं स्टूडियो स्थापित किए गए हैं।
    चिकित्सा सुविधाओं में कंप्यूटर की भूमिका :
    आज रोगी दूर बैठे विषेषज्ञ से इंटरनेट के जरिए किसी भी समय परामर्ष ले सकता है। आज बडे़-बडे़ जटिल ऑपरेषन कंप्यूटर की सहारयता से किए जा रहे हैं। आज किस अस्पताल में किस रोग से संगंधित स्पेषलिस्ट हैं ऑपरेषन के लिए कितना खर्चा आएगा। यह सब विवरण कंप्यूटर पर उपलब्ध है। यही कारण है कि आज भारत के बडे़ अस्पतालों में प्लास्टिक या बाईपास सर्जरी जैसे रोगों का इलाज कराने विदेषों से भी लोग आ जा रहे हैं। उच्चस्तरीय शोधों में भी आज कंप्यूटर का उपयोग किया जा रहा है। बायो टेक्नोलॉजी,जीनोम आदि सभी क्षेत्रों में कंप्यूटर महत्वपूर्ण जानकारियां उपलब्ध करा रहा है। मनोंजन के क्षेत्र में तो कंप्यूटर ने क्रांति ला दी है। इसके अतिरिक्त कंप्यूटर आज हमारे समाज का अभिन्ना अंग बन गया है। रेलवे टिकट की बुकिंग हो या एयर टिकट की कंप्यूटर ने यह सब आसान बना दिया है

Copyright © 2010-16 All rights reserved by: City Web